‘बुलडोजर’ के आगे ‘साइकिल’ पंचर, ‘हाथी’ और ‘हाथ’ घायल, जानें अन्य राज्यों की स्थिति

0
472

लखनऊ। विधानसभा चुनाव में भाजपा की जीत को लेकर भाजपा में जबरदस्त जश्न का माहौल है। यूपी में जो कभी नहीं हुआ वो इस बार हुआ है। यूपी की जनता ने बीजेपी को बंपर जनादेश दिया है और दूसरी बार योगी आदित्यनाथ के हाथों में सरकार की बागडोर आ गई है। मोदी-योगी की जोड़ी के सामने समाजवादी पार्टी की रणनीति पूरी तरह ध्वस्त हो गई। यूपी में बीजेपी का बड़ा चुनावी मंत्र भी डबल इंजन की सरकार का ही था। मोदी और योगी की जोडी एक और एक ग्यारह साबित हुई। मोदी-योगी के चेहरे के आगे अखिलेश यादव कहीं से कोई चुनौती पेश करते नहीं दिखे। गुरुवार शाम जब सीएम आदित्यनाथ बीजेपी दफ्तर पहुंचे तो उनका भव्य स्वागत किया गया। बीजेपी समर्थकों ने ’मोदी-योगी’ जिंदाबाद के नारे भी लगाए। इस दौरान भाजपा नेता अपर्णा यादव ने लखनऊ में अपनी बेटी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ’तिलक’ लगाया। वहीं, यूपी के कई शहरों में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा पटाखे फोड़े गए तो कई जगह मिष्ठान वितरण कर खुशी मनाई गई। एटा में भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने लोगों को जीत की मिठाई खिलाई तथा पटाखे फोड़े।

पंजाब चुनाव का परिणाम

117 सीटों में से आम आदमी पार्टी ने 92 सीटों पर जीत हासिल की, कांग्रेस को 18 और भाजपा को सिर्फ 2 सीटें मिलीं। शिरोमणि अकाली दल को केवल 3 सीटें मिलीं और एक-एक सीट एक निर्दलीय उम्मीदवार और बसपा ने जीती हैं।

गोवा चुनाव का परिणाम

गोवा चुनाव में भाजपा ने 20 सीटें जीती, कांग्रेस ने 11, आम आदमी पार्टी और महाराष्ट्रवादी गोमांतक ने 2-2, गोवा फॉरवर्ड पार्टी और रिवोल्यूशनरी गोवा पार्टी ने 1-1 और निर्दलीय ने 3 सीटें जीती हैं।

मणिपुर चुनाव का परिणाम

मणिपुर चुनाव में भाजपा ने 32 सीटें पाकर जीत दर्ज की।

जनता ने सपा, कांग्रेस, बसपा को नकारा, भाजपा को अपनाया।
गोरखपुर से भाजपा के योगी आदित्यनाथ जीते, मिले 1,64,170 मत।
करहल से सपा के अखिलेश यादव ने जीत हासिल की, मिले 1,48,196 मत।
सिराथू से भाजपा के केशव प्रसाद मौर्य चुनाव हारे।
दिनभर सोशल मीडिया पर लगे रहे लोग, दिखा खास उत्साह, कार्टून और जोक्स करते रहे शेयर।

यूपी के एटा में मतगणना स्थल पर दिखा मेला जैसा माहौल

आज जैसे ही सुबह 8 बजे विधानसभा के चुनाव के वोटों की गिनती शुरू हुई वैसे ही प्रत्याशियों की धड़कनें बढ़ गईं। सभी पार्टी के प्रत्याशी अपनी हार-जीत के आंकड़े लगाए बैठे रहे। हर पार्टी दिल थाम के चुनाव के नतीजे का पलपल का जायजा लेती रही। भाजपा, सपा, बसपा, कांग्रेस के अलावा अन्य पार्टियां भी मतगणना स्थल पर जमीं रहीं। सबसे ज्यादा हम बात यह रही कि समाजवादी पार्टी पूर्ण रूप से ईवीएम की रखवाली करती रही तथा किसी भी गड़बड़ी के लिए भाजपा सरकार को कोसने में कोई कोताही नहीं कर रही थी।
अधिकारियों ने बड़ी ईमानदारी के साथ सबसे पहले बैलेट पेपरों की गिनती कराई गई हर। टेबल पर हर राउंड पर बैलेट पेपरों की गिनती शुरू हुई जिसमें भाजपा, सपा, कहीं-कहीं बसपा व कांग्रेस का भी मत देखने को मिला। जब पेपर की गिनती समाप्त हुई तो ईवीएम से मतों का गिनना प्रारंभ हुआ। शुरू के राउंड में कभी सपा का प्रत्याशी तो कभी भाजपा का प्रत्याशी आगे- पीछे होते रहे। अंतिम चरण में भाजपा के प्रत्याशियों को बढ़त मिली 32 और राउंड में प्रत्याशियों की धड़कनें घटती बढ़ती रहीं तथा समर्थकों का हुजूम मतगणना स्थल के बाहर लगा रहा। समर्थकों में अपने प्रत्याशी के प्रति जीत-हार अवकलन करते हुए देखा गया। मानो ऐसा लग रहा था कि यहां बहुत बड़ा मेला लगा हो। वहीं पैरामिलिट्री फोर्स और बहुत बड़ी तादाद में पुलिस बल मौजूद रहा। किसी प्रकार की अप्रिय घटना का समाचार नजर में नहीं आया। वहीं अधिकारी स्वयं मतगणना स्थल पर बैठकर पल पल का जायजा लेते रहे।
अंतिम चरण में भाजपा के जनपद एटा के चारों सीटों पर प्रत्याशी विजयी रहे। एटा सदर से विपिन वर्मा डेविड, जलेसर से संजीव दिवाकर, मारहरा से वीरेंद्र सिंह वर्मा लोधी व अलीगंज से सत्यपाल राठौर विजयी घोषित किए गए।
इन प्रत्याशियों को अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सदर से सपा के रामेश्वर सिंह यादव, अलीगंज से योगेंद्र सिंह यादव, रणजीत सिंह सुमन जलेसर व गौरव यादव टीटू मारहरा को पराजित किया। अंतिम समय तक समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी बढ़त बना रहे थे लेकिन बाद में हार का मुंह देखना पड़ा।

About Post Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here