दिल्ली में कच्छा-बनियान गिरोह का भण्डाफोड़, सात गिरफ्तार, अवैध हथियार बरामद

0
249

नईदिल्ली। दिल्ली अपराध-शाखा उपायुक्त मोनिका भारद्वाज ने आज मीडिया के समक्ष बताते हुए कहा कि हमारी टीम को एक कुख्यात कच्छा-बनियान गिरोह के कुछ सदस्यों के विजय घाट पार्क के पास आने की सूचना मिली। एसीपी राजेश कुमार के दिशा-निर्देशन में इंस्पेक्टर आशीष शर्मा की अगुवाई में बनी टीम ने बिना समय गवाएं तत्परता दिखाते हुए विजय घाट चलो पार्क के पास जाल बिछाया। मध्य रात्रि को पुलिस ने सात सदिंग्धो को पार्क के पास बेवजह घूमते हुए देखा सूचना धारक के इशारा करते ही पुलिस ने सातों सेंधमारो को घेराव कर अपनी गिरफ्त में लेते हुए मौके पर ली गई तलाशी दौरान तीन पिस्तौल,नौ जिंदा कारतूस चार चाकू को व चोरी में इस्तेमाल औजार बरामद कर सभी अपराधियों को पुलिस हिरासत में ले लिया। अपराध शाखा डीसीपी मोनिका भारद्वाज अनुसार पकड़े गए अभियुक्तों की पहचान निखिल दास उर्फ बीरन, रामदास शिवप्रताप, श्रवणराज, सिंदबाज, सम्राट, शक्तिमान सभी मध्य प्रदेश के गुना के निवासी हैं। इनमें से रामदास सिंदबाज व शक्तिमान पहले से तीन आपराधिक मामलों में लिप्त है। पुलिस कड़ी पूछताछ के दौरान सभी मुजरिम लुटेरों ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया सेंधमारी के इरादे से यहां आए थे लेकिन अपराध शाखा की मुस्तैदी के चलते पकड़े गए। इनके मुताबिक सेंधमारी (डकैती) जैसी वारदात को अंजाम देना उनका कई दशकों से मुख्य पेशा रहा है। चोरी पेशे की इस रीत में उनके इलाके के पुरुषों के अलावा बच्चे व महिलाएं भी इस चोरी के धंधे में पूरी तरह सम्मिलित रहते हैं। दशकों से चले आ रहे हैं इनके पेशे के अनुसार यह कच्छा और बनियान में चोरी करते समय पकड़े ना जाए, अपने बचाव हेतु यह अपने शरीर पर ग्रीस या तेल लगा पर रखते हैं। लेकिन बदलते समय के अनुसार, इनके चोरी करने के तरीकों में भी काफी बदलाव आया है। कच्छा बनियान गिरोह के मुखिया अनुसार उन्हें जिस घर में चोरी करनी होती है कुछ दिन तक उस घर का सही से मुआयना करने के बाद इनका गिरोह एक साथ में घर के खिड़की के ग्रिल व दरवाजे को काटकर सेंधमारी जैसी वारदातों को अंजाम देते समय घर में रखें जेवरात और नगद कैश पर हाथ साफ कर मौके से फरार हो जाते हैं,चोरी करते वक्त यह कच्छा व बनियान पहने रहते हैं। इसलिए इस शातिर गिरोह को पर्दी गैंग के अलावा कच्छा-बनियान के नाम से जाना जाता है। पुलिस आईपीसी व आर्म्स-एक्ट तहत मामला दर्ज कर गहन-तफ्तीश के जरिए इस हथियारबंद शातिर कच्छा-बनियान गिरोह से जुड़े अन्य सदस्यों पर जल्द धरपकड़ बनाने की फिराक में जुटी है। पुलिस मुताबिक इस खतरनाक गिरोह के सदस्य सेंधमारी जैसी वारदातों को अंजाम देते समय विरोध करने वालों को जान से मारने से भी नहीं कतराते हैं। यह कुख्यात गैंग दिल्ली के अलावा हरियाणा, यूपी, राजस्थान व मध्य प्रदेश के अलावा देश के कई अन्य राज्यों में काफी सक्रिय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here