द्वारका एएटीएस ने नंदू गैंग के दो सक्रिय शार्प शूटरों को दो पिस्तौल व जिंदा कारतूस सहित दबोचा

0
373

नईदिल्ली। द्वारका उपायुक्त संतोष कुमार मीणा की कमांड में द्वारका जिले में हथियारबंद कुख्यात अपराधियों की धरपकड़ के लिए स्थानीय पुलिस के अलावा द्वारका आप्रेशन एसीपी विजय सिंह यादव के दिशा-निर्देशन में एएटीएस प्रभारी कमलेश कुमार के नेतृत्व में एसआई विकास यादव,महिला एसआई सरोज, हेड कांस्टेबल जितेंद्र, जगत सिंह दिनेश कांस्टेबल मनीष, परविंदर राजेश व संदीप की टीम द्वारका द्वारका जिले के संदिग्ध इलाकों में सादे कपड़ों में गश्त दौरान कुख्यात मुजरिमो की आपराधिक गतिविधियों पर खुफिया तौर पर नजर बनाए हुए थी।
इसी क्रम दौरान हवलदार परविंदर को हत्या प्रयास जैसे फायरिंग मामले में फरार चल रहे नंदू गिरोह के दो सक्रिय शार्प-शूटरों के अवैध हथियार सहित गोयला डेयरी के समता एंक्लेव में आने की गुप्त सूचना मिली। इस जानकारी को आला अधिकारियों से सांझा करने के बाद एएटीएस प्रभारी इंस्पेक्टर कमलेश कुमार की अगुवाई में बनी टीम ने बिना समय गवाए तत्परता दिखाते हुए समता एंक्लेव के पास जाल बिछाया । शाम पौने सात बजे के करीब एक होंडा अॅकार्ड कार को आते देखा गया। सूचनाधारक के इशारा करते ही पुलिस ने जैसे ही कार को चेकिंग के लिए रुकने का इशारा किया तो पुलिस की भनक लगते ही रूकने की बजाय कार को तेज रफ्तार से दौडाते हुए फरार होने की नाकाम कोशिश करने लगे।
पहले से जाल बिछाए बैठी पुलिस ने घेराव करके कार मैं बैठे दोनों शख्स को दबोच लिया। मौके पर ली गई तलाशी दौरान दो सोफिस्टिकेटेड एक कंट्री-मेड पिस्तौल व दो जिंदा कारतूस बरामद करते ही वारदात में इस्तेमाल होंडा अॅकार्ड कार को जब्त कर दोनों हथियारबंद आरोपितो को पुलिस हिरासत में ले लिया गया। द्वारका उपायुक्त संतोष कुमार मीणा अनुसार पकड़े गए दोनों अभियुक्तों की पहचान सनी उर्फ शूटर (22) यह पहले से तीन आपराधिक मामलों में लिप्त है। दूसरा विक्रम उर्फ विक्की (37) इस पर द्वारका सेक्टर-23 में पहले से चोरी का एक मामला दर्ज है। दोनों गोयला डेयरी के निवासी है। पुलिस की कड़ी पूछताछ के दौरान दोनों शातिर मुजरिमों ने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया दोनों नंदू गैंग के सक्रिय मेंबर हैं। आरोपी सन्नी उर्फ शूटर को दक्षिण-दिल्ली के एक बिजनेसमैन से दो करोड़ की फिरौती मांगने के मामले में क्राइम ब्रांच पुलिस ने अपनी गिरफ्त में लिया था। दूसरा मुजरिम विक्रम उर्फ विक्की गैंग का दबदबा बरकरार रखने हेतु रंगदारी वसूलने के लिए कई राउंड फायरिंग करके फिरौती-हत्या प्रयास मामले में फरार चल रहा था। पुलिस यु/एस 25/54/59 आर्म्स एक्ट तहत मामला दर्ज कर दोनों को कुख्यात शार्प-शूटरों ने इसके अलावा अन्य कितनी फिरौती-फायरिंग व हत्या जैसी वारदातों को अंजाम दिया है आगे की गहन-तफ्तीश के जरिए पता लगाने की फिराक में जुटी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here